हमारी सेवाएं


 स्वास्थ्यस्य स्वास्थ्य रक्षणम् व्याधितानां व्याधि परिमोक्षः। 

इस उद्देश्य का अनुसरण करते हुएप्राणी जगत के कल्याणदिर्घायुसुखायु एवं दुःख विमुक्ति के अपूर्व आश्वासन से योगआयुर्वेद आदि प्राचीन चिकित्सा के संवाहकों ने एक अद्भुत वरदान मनुष्य जाति को प्रदान किया हैं। जराव्याधि एवं मृत्यू के प्रतिकों में संसार का दुःख जब जब उभरा तब तब प्राचीन चिकित्सकों ने करुणावश दुःख निवारण के उपाय खोज निकाले। चिकित्सकीय श्रेणी में आनेवाले कार्यों के अतिरिक्त शुद्ध और सात्विक आहार-विहार की सांस्कृतिक परंपरा सुनिश्चित करने का उन्‍होंने प्रयास किया है। इसी उद्देश्‍य को अपनाते हुए जीवन स्‍वास्‍थ्‍य समूह ने जन सामान्‍यों के लिए सहज, सुलभ और कम से कम लागत पर उन्नत एवं उपचारात्मक स्वास्थ्य सेवायें, आरोग्य मार्गदर्शन एवं आरोग्‍य प्रदायी उत्‍पाद उपलब्ध करवाने संकलप लिया है। 

जीवन स्‍वास्‍थ्‍य समूह स्वास्थ्य क्षेत्र में कार्यरत प्रबुद्ध चिंतकोंदक्ष चिकित्सकोंआरोग्‍य मार्गदर्शकों एवं प्रकृति के साथ सहज सामंजस्‍य स्‍थापित कर स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक उत्‍पादों का उत्‍पादन करनेवाले सुज्ञ-जनों का समुह है। यह समुह जन सामान्यों के लिए योगआयुर्वेद, प्राकृतिक उपचार इत्‍यादी अभिगमों द्वारा आरोग्य मार्गदर्शनआरोग्य सेवाएं एवं प्राकृतिक गुणों से भरपुर तथा विघातक रसायनों से मुक्‍त जैविक खाद्य उत्‍पाद का निर्माण करने और उन्‍हें जन-सामान्‍यों के लिए उपलब्ध करवाने के साथ-साथ समाज में स्‍वस्‍थ मानसिकता के निर्माण हेतु संकल्‍प कृत है।

मानव प्रकृती के नियमों को समझकर शरीरमनचित्त, बु‍द्धी की स्वस्थता से युक्त ऐसा निरामय जीवन जी सके। रोगावस्था में स्वस्तसुलभ एवं संपूर्ण रूप से निर्दोष ऐसे पंरपरागत योगआयुर्वेद एवं प्राकृतिक उपचार पद्धतियों का अवलंब कर स्‍वास्‍थ्‍य लाभ ले सके तथा इस सृष्टि के लिए सार्थक अर्थ में कुछ योगदान दे सके। इस दृष्‍टी से जीवन स्‍वास्‍थ्‍य समुह अपनी कुछ सेवायें प्रदान करने के साथ-साथ मानव समाज के साथ सार्थक संवाद स्‍थापित करने का प्रयास करता है। 

जीवन स्‍वास्‍थ्‍य समूह के माध्‍यम से आप निम्‍न सेवायें प्राप्‍त कर सकते है -

  •  निरापद वनौषधी द्वारा शमन-उपचार ।
  • मसाज (स्नेहन)औषधीय काढों का सेक (स्वेदन)पिरक्षेकपिंड-पोटली स्वेदनवमनविरेचन्एनिमा (बस्ती)हृद्यबस्तीकटीबस्तीजानुबस्तीशिरोबस्तीशिरोधाराशिरोभ्यंगशिरोपिचु,  नस्यनेत्रतर्पननेत्रधावकर्णपुरणकवलगण्डुंषउद्वर्तनम् आदी संपूर्ण आयुर्वेद पंचकर्मोपचार ।
  • जलचिकित्सा : ठंडा गरम पानी की पट्टीकटिस्नान रीढ़स्नानबाष्पस्नान आदि प्राकृतिक उपचार ।
  • लेप : हर्बल मृतिकालेपगोमयलेपऔषधि लेप-प्रलेप आदि द्वारा सौदर्यं चिकित्सा ।
  • योगासनप्राणायामध्यानमुद्राएवं यौगिक शुद्धिक्रिया द्वारा तन और मन की चिकित्सा ।
  • पथ्या पथ्यः अर्थात आहार विहार का नियोजन एवं मार्गदर्शन की उपलब्धता ।
  • अत्याधुनिक कम्प्युटराईज्ड मशीनों द्वारा एक्युप्रेशर एवं फिजिओथेरेपी उपचार ।
  • परिचर्चासंगोष्ठीयों द्वारा मनोदैहिक स्वास्थ्य शिक्षा एवं आध्यात्मिक बोध का विकास।
  • नशा मुक्ति हेतु समुपदेशन एवं मार्गदर्शन सुविधा तथा कुछ केन्‍दों में दूर के मरीजों के लिए न्युनतम दरों में
  • सामान्य एवं वातानुकुलित आवास की सुविधा ।

किन रोगों के उपचार में मार्गदर्शन एवं उपचारात्‍मक सेवायें उपलब्‍ध है ?

  • मानसिक तनावअनिद्राअपस्मारउन्मादस्मृतिदौर्बल्य आदि मस्तिष्कतंत्र संबंधित विकार ।
  • अजिर्णअम्लपित्तअतिसारकब्जकृमीरोगमोटापामधुप्रमेहयकृत-प्लीहा आदि उदर संबंधित विकार।
  • नजलाजुकामज्वरश्वासकास (दमा) आदि श्वसनतंत्र संबंधित विकार ।
  • अनियमित रक्तदाबहदय दौर्बल्यहदयवेदनाहदयाघात आदि रक्त परिभ्रमण संबंधित विकार
  • आमवातकंपवातपक्षाघातसाईटिकास्पोन्डीलाईटीसकमर-जोडों का दर्द आदि वात संबंधित विकार ।
  • खुजलीएलर्जीदादएक्झिमाविचर्चिकाविस्फोटमसूरिकाश्वेतकृष्ठ आदि त्वचा संबंधित विकार ।
  • फोडा-फुन्सीग्रंथी (गांठे)गंडमालाअपचीअर्बुद (कॅन्सर) आदि लसिकातंत्र संबंधित विकार ।
  • मुत्रावरोधमुत्रदाहबहुमुत्रताशोथ (सूजन)अश्मरी (पथरी)किडनी आदि मूत्रतंत्र संबंधित विकार ।
  • फिरंगउपदंशस्वप्नदोषध्वजभंगनपुसंकतावंध्यत्त्व एवं स्त्रियों के मासिक संबंधीत रोग । 

जीवन स्वास्थ्य उत्पादन वितरण केंद्र

औद्योगिक संस्कृती के जहरीले प्रभावों ने अप्राकृतिक और स्वास्थ विघातक उत्पादों का निर्माण कर प्रकृति पर्यावरणकृषीवनस्पतीओंविविध जैव संसाधनों एवं मानवीय स्वास्थ्य के लिए संकट उत्पन्न किया है। दूसरी ओर केंद्रिकृत बाजार के प्रभाव से अनेक लोग बेरोजगार हो रहे है। इन स्थितियों में स्वदेशी की अवधारणा को प्रोत्साहित करछोटे छोटे समूह द्वारा उत्पादितविषाक्त रसायनों से मुक्तपर्यावरण अनुकूलप्राकृतिक एवं स्वास्थ्य संवर्धक उत्पादन को वितरण करने का जीवन स्‍वास्‍थ्‍य समूह द्वारा एक प्रयास किया गया है। जहां से आप स्वास्थ वर्धक, गृहउपयोगी उत्पादनजैविक खाद्यान्नचिकित्सा आनुषंगिक वस्तुएं एवं आरोग्य विषयक पुस्तके इत्यादि प्राप्त कर आरोग्य लाभ के साथ-साथ स्थानिय किसानमजदूर और परंपरागत कारीगरों के लिए रोजगार का बेहतर अवसर उपलब्ध करवा सकते हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्राण साधाना का दार्शनिक विवेचन

इंटरमिटेंट फास्टिंग : वजन कम करने का बेहतर उपाय

आयुर्वेद दिनचर्या : स्वास्थ्य वृध्दि और रोग निवृति का सोपान

निरायमय संचेतना

गिलोय के औषधीय गुण

Meditation Movie in Hindi For Inspiration & Motivation